Uncategorized

मोटापा आसानी से कम करने के असरदार घरेलू एंव आयुर्वेदिक उपाय

Home Remedies for Obesity) आज मनुष्य के अस्वस्थ जीवनशैली के कारण उत्पन्न बीमारियों में से सबसे बड़ी एवं महत्वपूर्ण बीमारी मनुष्य का अधिक मोटापा है। यह बीमारी पूरी दुनिया में एक बहोत बढ़ी महामारी बन गई है। बात करे भारत की तो ,भारत में अनेक लोग मोटापे के शिकार है। मोटापे के कारण मनुष्य के शरीर में कई तरह की परेशानियां उत्पन्न होने लगती हैं। जब वही परेशानियां बढ़ने लगती है तो लोग कहीं जाकर मोटापा कम करने के लिए उपाय (motapa kaise kam kare) खोजने लगते हैं। कई बार उनको उचित जानकारी नहीं मिल पाने के कारण लोग अपना वजन घटता ही नहीं पाते हैं।यहां वजन घटाने के लिए अनेक घरेलू एवं आयुर्वेदिक उपाय बताए जा रहे है। आप इन महत्वपूर्ण उपायों द्वारा अपना वजन आसानी से कम कर सकते हैं।

मोटापा क्या है? (What is Obesity?)

जब किसी मनुष्य के शरीर का वजन, सामान्य से कहीं अधिक हो जाता तो उसे मोटापा कहा जाता हैं। यह तब होता है जब ,आप रोज कितनी कैलोरी भोजन के रूप में लेते हैं, जब आपका शरीर रोज उतनी ऊर्जा खर्च नहीं कर पाता है, तो मानव शरीर में अतिरिक्त कैलोरी फैट के रूप में जमा होने लगता है, जिसके परिणामस्वरूप शरीर का वजन बढ़ने लगता है।

मोटे होने का सबसे महत्वपूर्ण कारण (Obesity Causes)

अधिक वजन (Over Weight) वाले व्यक्तियों के शरीर में अन्य मात्रा में चर्बी (Toxins) जमा हो जाती है। यह मानव  शरीर में धीरे-धीरे गलत दिनचर्या, प्रदूषण और अपच के कारण उत्पन्न होती रहती है। अधिकतम वजन दो कारणों से बढ़ता है, जो ये है

  • अस्वस्थ या बाहर का खान-पान 
  • शारीरिक गतिशीलता में कमी आना

मोटे होने के लक्षण (Obesity Symptoms)

किसी व्यक्ति का उचित मात्रा में कितना वजन होना चाहिए, यह बी.एम.आई. पर निर्भर करता है। बी.एम.आई.  केवल दो बातों पर  निर्भर करती है

  • कद
  • वजन

आप बीएमआई से अपने वजन की जांच आसानी से  कर सकते हैं। बी.एम.आई. का यह फार्मूला होता है- वजन (कि.ग्रा. में)/कद (मीटर में )

अगर आपकी बीएमआई 18.5 से कम है तो आपका वजन कम माना जाता है। अगर आपकी बीएमआई 18.5 से 24.9 के बीच है तो आपका वजन एकदम सामान्य माना जाएगा।

इसी तरह 25 से 029.9 तक की बी.एम.आई. होने पर ओवरवेट माना जाता है. 30 से ज्यादा की बी.एम.आई. होने पर मोटापा कहलाता है।

गर्भावस्था के दौरान बी.एम.आई. की सीमा लागू नहीं होती है।बी.एम.आई.  कभी भी आयु व लिंग पर निर्भर नहीं करता है।

वजन आसानी से  कम करने (मोटापा घटाने) के लिए सबसे महत्वपूर्ण घरेलू नुस्खे (Home Remedies for Obesity (Weight loss) आप मोटापा आसानी से कम करने के लिए ये घरेलू उपाय आजमा सकते हैंः-

  • मोटापा आसानी से  कम करने के लिए दालचीनी का सेवन :- लगभग 200 मि.ली. पानी में 3-6 ग्राम दालचीनी पाउडर डालकर 15 से 20 मिनट तक उसे  उबालें। गुनगुना होने पर इसे छानकर उसमें एक चम्मच शहद मिला लें। इसे केवल सुबह खाली पेट और रात को सोने से पहले पिएं। दालचीनी एक शक्तिशाली एंटी-बैक्टीरियल है, जो  हमारे शरीर को नुकसानदायक बैक्टीरिया से छुटकारा दिलाने में मदद करती है।
  • वजन आसानी से  कम करने के लिए करें अदरक और शहद का प्रयोग :- रोजाना लगभग 30 मि.ली. अदरक के रस में दो चम्मच शहद मिलाकर पिएं। अदरक और शहद शरीर की चयापचय क्रिया को बढ़ाकर अतिरिक्त  वसा को जलाने का काम करते हैं। इसके अलावा अदरक अधिक भूख लगने की समस्या को भी दूर करता है, तथा पाचन क्रिया को  भी दुरुस्त करता है। इस योग  को रोजाना  सुबह खाली पेट तथा रात को सोने से पहले ही  लेना (Motapa kam karne ke liye gharelu or ayurvedic upchar) चाहिए।
  • मोटापा आसानी से कम करने के लिए अश्वगन्धा का प्रयोग (Ashwagandha:- येह प्रक्रिया बहोत ही आसान है इसमें आप अश्वगंधा के दो पत्ते लेकर पेस्ट बना लें। सुबह सुबह खाली पेट इसे गर्म पानी के साथ पियें। अश्वगंधा तनाव के कारण उत्पन्न होने वाले मोटापे में मदद करता है। अत्यधिक तनाव की अवस्था में मनुष्य के शरीर में कोर्सिटोल (Cortisol)  नामक हार्मोन अधिक मात्रा में बनता है। इसके कारण  मनुष्य को भूख अधिक लगती है। शोध के अनुसार, अश्वगंधा शरीर में कोर्सिटोल (Cortisol) के लेवल को  भी आसानी से कम करता है।
  • मोटापे से आसानी से  मुक्ति पाने के लिए आपका खान-पान कैसा होना चाहिए- इन फलों का करें सेवन जैसे कि अदरक, पपीता, करेला, जीरा, सरसों, सौंफ, अजवाइन, काली मिर्च, सोंठ, पिप्पली, सहजन, पालक, चौलाई,  गोभी, खीरा, ककड़ी, गाजर, चुकंदर, सेब आदि लेने चाहिए। जई, जौ, बाजरा, रागी, मूंग दाल, मसूर, आंवला, नींबू, शहद, हल्दी, एलोवेरा जूस, आंवला जूस, ग्रीन टी, स्टीम किये हुये पौष्टिक अनाज आदि का भी सेवन करना चाहिए।

मोटापा आसानी से घटाने से जुड़े सवाल-जवाब 

  • क्या आयुर्वेदिक तरीके से मोटापे से छुटाकारा पाया जा सकता है?

अगर आपके मन में भी हमेशा यही सवाल रहता है कि मोटापा कैसे कम करें (Motapa kaise kam kare) तो आप इसके लिए आसानी से कोई भी  आयुर्वेदिक तरीका अपना सकते हैं। आयुर्वेद मोटापे से लड़ने के लिए प्राकृतिक  रूप से चिकित्सा उपलब्ध कराता है। संतुलित और स्वास्थ्यवर्धक आहार तथा व्यायाम के साथ-साथ आयुर्वेदिक चिकित्सा रोजाना करने से मोटापा घटाने में आपको  सर्वाधिक लाभ मिलता है।

  • आयुर्वेद द्वारा आसानी से  मोटापा कम कैसे होता है?

आयुर्वेदिक औषधियां मुख्य रूप से आम को पचाकर समाप्त कर देती है। इस आम को पचाये बिना मनुष्य का मोटापा  दूर करना लगभग असंभव होता है। यही मुख्य  कारण है कि बहुत सारे लोग आहार कम करने के बाद भी मोटे ही होते  हैं।

  • मोटापे के कारण कौन-कौन सी मुख्य बीमारियां हो सकती हैं?

इसकी वजह से डायबिटीज, अर्थराइटिस, उच्च रक्तचाप, ब्रेन स्ट्रोक व कैंसर जैसे गंभीर रोग भी  हो जाते हैं।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Engineer by profession and writer by passion- News with Innovation